Jhalko Media

राजस्थान : साइबर ठगों पर पुलिस का बड़ा अटैक, 2 दिन में दबोचे 240 ठग, इस तरह करते थे लोगों से ठगी

 | 
राजस्थान : साइबर ठगों पर पुलिस का बड़ा अटैक, 2 दिन में दबोचे 240 ठग, इस तरह करते थे लोगों से ठगी
जयपुर. राजस्थान पुलिस ने साइबर ठगों के खिलाफ बड़ा अभियान छेड़ते हुए महज दो दिन में प्रदेशभर से 240 ठगों को धरदबोचा है. इसको लेकर राजस्थान के विभिन्न थानों में कुल 28 एफआईआर दर्ज कर 240 अपराधियों को गिरफ्तार किया गया है. पुलिस ने उनके कब्जे से 152 मोबाइल, 104 एटीएम कार्ड, 89 सिम कार्ड, 10 चैकबुक, 40 बैंक पासबुक, 1 मोटरसाईकिल, 6 लैपटॉप, 1 कार और 4 लाख 85 हजार रुपये जब्त किए हैं. पुलिस की इस कार्रवाई से साइबर ठगों में खलबली मच गई. राजस्थान डीजीपी यूआर साहू के निर्देश पर पुलिस ने यह बड़ा एक्शन लिया. इसके लिए पुलिस ने दो दिन का विशेष अभियान चलाकर साइबर ठगों की धरपकड़ शुरू की. इसके तहत कुल 475 संदिग्ध साइबर अपराधियों को दस्तयाब किया गया. इनमें से 240 साइबर ठगों को गिरफ्तार किया गया. इनको लेकर प्रदेशभर में 28 प्राथमिक रिपोर्ट दर्ज की गई. इनमें 105 ठगों को पूर्व में दर्ज किए गए प्रकरणों में गिरफ्तार किया गया है. वहीं 134 अपराधियों को निवारक कार्रवाई करते हुए गिरफ्तार किया गया. इनमें उदयपुर, डूंगरपुर, अजमेर, जोधपुर, अलवर, डीग, दौसा, जयपुर दक्षिण और जोधपुर पश्चिम में बड़ी कार्रवाइयां की गई. जयपुर समेत कई जिलों में फर्जी कॉल सेंटर भी पकड़े गए हैं. पुलिस गिरफ्तार साइबरों ठगों से पूछताछ करने में जुटी है. दौसा जिले में 9 ठगों को पकड़ा दौसा में पुलिस ने कुल 9 ठगों को गिरफ्तार किया है. वहीं पांच बाल अपचारियों को अनिरुद्ध किया गया है. दौसा में आरोपियों के कब्जे से कुल 27 मोबाइल, एक लेपटॉप, 54 सिम कार्ड, 14 एटीएम सहित दो वाहन जब्त किए गए हैं. दौसा में पकड़े गए ठग साइबर अपराध का गढ़ माने जाने वाले हरियाणा, अलवर, भरतपुर के मेवात इलाके और दौसा कुछ गांवों से भी जुड़े हुए हैं. पुलिस पहले भी चला चुकी है ऐसे अभियान उल्लेखनीय है कि राजस्थान में पुलिस ने इससे पहले भी विशेष अभियान चलाकर एक ही दिन में सैंकड़ों अपराधियों और असामाजिक तत्वों को जेल की सींखचों में बंद किया था. इस बार खासतौर पर साइबर ठगों के खिलाफ अभियान चलाया गया था. साइबर ठगों की धरपकड़ की सूचना पर कई फर्जी कॉल सेंटर्स में भगदड़ मच गई. वहीं कई साइबर ठग पुलिस से बचने के लिए इधर-उधर छिपते रहे.