Jhalko Media

Kisan Credit Card: किसानों की बल्ले बल्ले, ऐसे लें किसान KCC का डबल फायदा

किसान क्रेडिट कार्ड योजना (Kisan Credit Card Yojana) के तहत किसानों को 3 लाख रुपये तक का लोन मिलता है, जो कि सबसे ज्यादा 1 लाख 60 हजार रुपये तक के शॉर्ट टर्म लोन के लिए सिक्योरिटी के बिना है।
 | 
Kisan Credit Card: किसानों की बल्ले बल्ले, ऐसे लें किसान KCC का डबल फायदा

Jhalko Media, New Delhi: KCC- Kisan Credit Card Yojana: भारतीय किसानों की सुविधा के लिए केंद्र सरकार ने कई कल्याणकारी योजनाएं शुरू की हैं। इन योजनाओं के तहत, किसानों को ऋण की सुविधा प्रदान की जाती है, जैसे कि किसान क्रेडिट कार्ड योजना - Kisan Credit Card Yojana। इस योजना के अनुसार, किसानों को सस्ती ब्याज दरों पर लोन प्राप्त करने का अवसर मिलता है। इसके अलावा, वे बीमा, सब्सिडी, आदि का भी लाभ उठा सकते हैं। 

किसान क्रेडिट कार्ड योजना (Kisan Credit Card Yojana) के तहत किसानों को 3 लाख रुपये तक का लोन मिलता है, जो कि सबसे ज्यादा 1 लाख 60 हजार रुपये तक के शॉर्ट टर्म लोन के लिए सिक्योरिटी के बिना है। इसे बनाने की प्रक्रिया भी सरल हो गई है, जिससे किसानों को खेती के लिए निश्चिंतता मिलती है। इस योजना के तहत किसानों को व्यक्तिगत दुर्घटना बीमा के तहत स्थायी विकलांगता और मृत्यु के लिए भी कवर किया जाता है। इससे किसानों को गारंटी मुक्त लोन का लाभ भी मिलता है। आइये जानते है इस योजना के बारे में... 

क्या है KCC योजना? 

भारत सरकार ने किसानों के लिए किसान क्रेडिट कार्ड योजना जिसे केसीसी के नाम से भी जाना जाता है, शुरू की है। इसका उद्देश्य असंगठित क्षेत्र के किसानों को साहूकारों से अधिक ब्याज दरों पर लोन लेने से बचाना है। इस योजना के तहत ब्याज दर को 2% तक कम किया जा सकता है। इसके अलावा, पुनर्भुगतान अवधि फसल या व्यवसाय अवधि पर आधारित होती है जिसके लिए ऋण राशि ली गई थी। 

गारंटी मुक्त लोन का लाभ उठा सकते हैं किसान

आपको बता दें तो केसीसी क्रेडिट वाले किसानों को व्यक्तिगत दुर्घटना बीमा के तहत स्थायी विकलांगता और मृत्यु के लिए 50,000 रुपये तक और अन्य जोखिमों के लिए 25,000 रुपये तक कवर किया जाता है। वहीं सरकार की इस योजना के द्वारा किसानों को 1 लाख रुपये तक का गारंटी मुक्त लोन दिया जाता है। 

दुर्घटना बीमा को कवर करता है ये स्कीम

बताते चलें तो इस योजना के तहत किसान को 5 साल की अवधि के लिए 4 फीसदी ब्याज दर पर 3 लाख रुपये तक का लोन आसानी से मिल जाता है। इसके अलावा किसान को दुर्घटना बीमा योजना का कवरेज भी दिया जाता है, क्योंकि केसीसी योजना के लाभार्थी किसान को कृषि कार्यों के दौरान कई प्रकार के जोखिमों का सामना करना पड़ता है। अब सवाल है कि अगर केसीसी ऋण धारक की मृत्यु हो जाती है या किसान स्थायी या अस्थायी विकलांगता का शिकार हो जाता है, तो ऐसी स्थिति में केसीसी राशि को बीमा दावे के माध्यम से कवर किया जाता है। 

किसान कितने रुपये का कर सकते हैं क्लेम

नियमों के मुताबिक, अगर किसी किसान की मौत हो जाती है तो उसके परिवार को 50,000 रुपये का बीमा मिलता है या किसी बड़ी दुर्घटना में वह विकलांग हो जाता है तो 25,000 रुपये से 50,000 रुपये तक का क्लेम मिलने का प्रावधान है। किसान क्रेडिट कार्ड बनवाना बहुत आसान है। आवेदन करते समय ही किसान को इससे जुड़े नियम समझा दिए जाते हैं।

किसान अपना आधार कार्ड, बैंक पासबुक कॉपी, पासपोर्ट साइज फोटो और जमीन के दस्तावेज की कॉपी जमा करके केसीसी लोन जारी करवा सकते हैं। अधिक जानकारी के लिए आप किसान क्रेडिट कार्ड फॉर्म pmkisan.gov.in से डाउनलोड कर सकते हैं या अपनी बैंक शाखा से भी संपर्क कर सकते हैं।