हरियाणा

हरियाणा के 7 जिलों में 3 दिन इंटरनेट बंद, कई जिलों में धारा 144 लागू

×

हरियाणा के 7 जिलों में 3 दिन इंटरनेट बंद, कई जिलों में धारा 144 लागू

Share this article
Internet shut down for 3 days in 7 districts of Haryana

हरियाणा सरकार ने राज्य के 8 जिलों में 3 दिन के लिए मोबाइल इंटरनेट, डोंगल और बल्क SMS बंद कर दिया है। यह फैसला पंजाब और हरियाणा के किसानों के 13 फरवरी को दिल्ली कूच को देखते हुए लिया गया है।

इंटरनेट पर पाबंदी का फैसला अंबाला, हिसार, कुरूक्षेत्र, कैथल, जींद, फतेहाबाद और डबवाली समेत सिरसा में लागू होगा। यह रोक 11 फरवरी की सुबह 6 बजे से 13 फरवरी की रात 11.59 बजे तक लागू रहेगा। इस दौरान ब्रॉडबैंड और लीज लाइन का इंटरनेट चलता रहेगा।

विज्ञापन
विज्ञापन

इसके पीछे हरियाणा सरकार ने तर्क दिया कि CID के ADGP ने किसानों की तरफ से मार्च और प्रदर्शन की कॉल दी गई है। इससे तनाव, पब्लिक प्रॉपर्टी डैमेज और शांति व्यवस्था भंग होने की आशंका है।

इस दौरान इंटरनेट के जरिए भ्रामक जानकारी सर्कुलेट की जा सकती है। सोशल मीडिया फेसबुक, वॉट्सऐप, ट्विटर, SMS आदि के जरिए ऐसा न हो, इसलिए इंटरनेट बंद करने का फैसला लिया गया है।

हरियाणा के अंबाला, कुरुक्षेत्र, कैथल, सोनीपत, झज्जर, सिरसा, फतेहबाद, जींद, रोहतक व पंचकूला में धारा-144 लागू की गई है।

 

संयुक्त किसान मोर्चा (SKM), गैर राजनीतिक और किसान मजदूर मोर्चा समेत 26 किसान संगठनों ने 13 फरवरी को दिल्ली कूच का ऐलान किया है।

पंजाब के 27 किसान संगठनों का ऐलान- धक्केशाही की तो हम भी दिल्ली कूच करेंगे
संयुक्त किसान मोर्चा (SKM) के 13 फरवरी को दिल्ली कूच से पहले पंजाब के 27 किसान संगठनों ने हरियाणा सरकार को सीधा अल्टीमेटम दिया है। भारतीय किसान यूनियन (BKU) लक्खोवाल के सचिव हरिंदर सिंह लक्खोवाल ने कहा कि 13 फरवरी को दिल्ली कूच के दौरान किसानों से धक्केशाही करने की कोशिश की गई तो 16 फरवरी को 27 संगठन भी दिल्ली कूच कर जाएंगे। इस दौरान भारत बंद कराया जाएगा।

लक्खोवाल ने कहा कि 16 फरवरी की सुबह 12 से शाम 4 बजे तक ट्रैफिक रोका जाएगा। बसें बंद कराई जाएंगी। रेलवे ट्रैक ठप किए जाएंगे और टोल प्लाजा फ्री करवाए जाएंगे। लोगों को होने वाली दिक्कतों की सरकार जिम्मेदार होगी।

दिन में पंजाब-हरियाणा का शंभू बॉर्डर सील किया

 

 

पंजाब के किसानों को दिल्ली जाने के लिए हरियाणा में घुसने से रोकने के लिए शनिवार दोपहर को पुलिस ने हरियाणा की तरफ से अंबाला में शंभू बॉर्डर को सील कर दिया। शंभू बॉर्डर के पास घग्गर नदी के पुल के ऊपर सीमेंट के बैरिकेड रखकर कंटीली तारें बिछा दी गई हैं।

इसके अलावा किसान घग्गर नदी के रास्ते ट्रैक्टर न निकाल लें, इसके लिए जेसीबी से पूरी नदी के किनारों को खोद दिया गया है। यहां पर भारी पुलिस फोर्स की तैनाती कर दी गई है। किसानों ने हरियाणा में एंट्री के लिए शंभू के अलावा सिरसा के डबवाली और संगरूर से लगते खनौरी बॉर्डर को चुना है। सभी बॉर्डर सील किए जा चुके हैं।

पंजाब से दिल्ली का रूट डायवर्ट किया गया अंबाला और पंजाब के पटियाला के बीच बॉर्डर बंद होने के बाद दिल्ली आने-जाने के लिए रूट डायवर्ट कर दिया गया है। पटियाला के DC शौकत अहमद ने बताया कि अंबाला पुलिस की चिट्‌ठी के बाद अंबाला से दिल्ली जाने के लिए यह 4 रूट तय किए गए हैं।

1. पहला शंभू, राजपुरा, बनूड़ एयरपोर्ट रोड, डेरा बस्सी, अंबाला, दिल्ली है।

2. दूसरा शंभू, राजपुरा, बनूड़, पंचकूला, नाडा साहिब, बरवाला, शहजादपुर, साहा, शाहाबाद से दिल्ली है।

3. तीसरा राजपुरा, पटियाला, पिहोवा, कुरूक्षेत्र से दिल्ली है।

4. चौथा रूट राजपुरा, पटियाला, पिहोवा से 152D एक्सप्रेसवे रोहतक से दिल्ली जाया जा सकता है।

उपद्रव से निपटने के लिए फुल बॉडी प्रोटेक्टर गेयर सूट से लैस होंगे जवान

किसान आंदोलन से निपटने के लिए पुलिस की स्पेशल टुकड़ियों को आगे किया जाएगा। जवानों के लिए फुल बॉडी प्रोटेक्टर गेयर सूट मंगवाए गए हैं। जिन्हें पहनने के बाद न तो जवानों पर लाठी, डंडों और धक्का-मुक्की व पत्थर बाजी का असर नहीं होगा।

मल्टी बैरल लांचर गन से लैस नई गाड़ियां

उपद्रव से निपटने के लिए मल्टी बैरल लांचर गन से लैस नई गाड़ियां शामिल की गई हैं। किसान आंदोलन के लिए 4 गाड़ियां तैनात रहेंगी। एक गाड़ी पर लगी गन से करीब आधा दर्जन आंसू गैस के गोले छोड़े जा सकते हैं। अंबाला के अलावा इसमें पंचकूला की गाड़ियों को भी शामिल किया है। नई गाड़ियों में न केवल गन है,बल्कि पीछे केबिन भी हुआ है, ताकि अधिक जवानों को बैठाकर आगे तक ले जा सके।

आपात स्थिति से निपटने के लिए तैनात होंगी टुकड़ी

आपात स्थिति से निपटने व कानून व्यवस्था बनाने के लिए अंबाला में गठित चारों कंपनियों एल्फा, ब्रेवो, चार्ली व डेल्टा का गठन किया गया है। चारों कंपनियों में से प्रत्येक कंपनी में 107-107 कुल 428 जवानों के साथ-साथ दूसरे राज्यों से अर्ध सैनिकों बलों की 12 टुकड़ियां बुलाई गई हैं, जिनमें 850 जवान होंगे।

अंबाला पुलिस को लगभग पिछले 25 दिनों से लगातार मॉडर्न राइफल जेवी पीसी, सिग राइफल, असाल्ट राइफल, एके-47, 12 बोर पंप एक्शन गन, एमएसएल, एसएलआर के चलाने व रख-रखाव के बारे में विशेष ट्रेनिंग दी जा रही है।

करनाल से मंगवाए ड्रोन से रखी जाएगी निगरानी

पुलिस ड्रोन से शंभू बॉर्डर पर नजर रखेगी। यह ड्रोन सामान्य से काफी बढ़ा है और इस पर बरसात का भी कोई असर नहीं रहेगा। ड्रोन करनाल से मंगवाया गया है। लगभग 1 घंटे तक बिना नीचे उतारे इससे वीडियोग्राफी की जा सकती है। जैसे ही बैटरी कम होती है तो ड्रोन अपने आप ही नीचे आ जाएगा। पुलिस लाइन मैदान में इस ड्रोन को पायलट पवन कुमार व उसकी टीम ने चलाकर देखा।

हरियाणा पुलिस ने जारी की ट्रैफिक एडवाइजरी

हरियाणा पुलिस के अनुसार, नेशनल हाईवे-44 पर ट्रैफिक बाधित होने पर चंडीगढ़ से दिल्ली जाने वाले यात्री डेराबस्सी, बरवाला/रामगढ़, साहा, शाहबाद , कुरुक्षेत्र के रास्ते या फिर पंचकूला, NH-344 यमुनानगर इंद्री/पिपली, करनाल होते हुए दिल्ली जा सकते हैं।

इसी प्रकार, दिल्ली से चंडीगढ़ जाने वाले यात्री करनाल, इंद्री/पिपली, यमुनानगर, पंचकूला होते या फिर कुरुक्षेत्र, शाहबाद, साहा, बरवाला, रामगढ़ होते हुए अपने गंतव्य स्थान पर पहुंच सकते हैं।

प्रशासन की आमजन को हिदायत
प्रशासन द्वारा जग्गी सिटी सेंटर के सामने चंडीगढ़ की तरफ से रास्ते को डायवर्ट किया जाएगा। लोगों को पंजाब जाने से बचने की सलाह दी गई है। स्थिति बिगड़ी तो आने वाले दिनों में अंबाला-चंडीगढ़ नेशनल हाईवे-152, अंबाला-हिसार नेशनल हाईवे एनएच-65, पानीपत-जालंधर नेशनल हाईवे-44 व अंबाला-काला अंब नेशनल हाईवे 344 को भी बंद किया जा सकता है।